एक से सौ तक संख्यावाचक शब्दों का मानक रूप

एक से सौ तक संख्यावाचक शब्दों का मानक रूप
अवधि : 
00 hours 17 mins

हिंदी प्रदेशो में संख्यावाचक शब्दों के उच्चारण और लेखन में एकरूपता का अभाव दिखाई देता है। शिक्षा मंत्रालय द्वारा प्रकाशित “ए बेसिक ग्रामर ऑफ मॉडर्न हिंदी” में भी इस एकरूपता का अभाव था। अतः निदेशालय में 5-6 फरवरी ,1980 को आयोजित भाषा विज्ञानियों की बैठक में इस पर गम्भीरतापूर्वक विचार करने के बाद इनका जो मानक रूप स्वीकार हुआ, वह इस प्रकार है।

एक से सौ तक संख्यावाचक शब्दों का मानक रूप
एक, दो, तीन, चार, पाँच।
छह, सात, आठ, नौ, दस।।

ग्‍यारह, बारह, तेरह, चौदह, पन्द्रह।
सोलह, सत्रह, अठारह, उन्नीस, बीस।।

इक्कीस, बाईस, तेईस, चौबीस, पच्चीस।
छब्बीस, सताईस, अट्ठाईस ,उनतीस, तीस।।

इकतीस, बत्तीस, तैंंतीस, चौंंतीस, पैंंतीस।
छत्तीस, सैंंतीस, अड़तीस, उनतालीस, चालीस।।

इकतालीस, बयालीस, तैतालिस, चवालीस, पैंंतालीस।
छियालीस, सैंंतालिस, अड़तालीस, उनचास, पचास।।

इक्यावन, बावन, तिरपन, चौवन , पचपन।
छप्पन, सत्तावन, अठावन, उनसठ, साठ।।

इकसठ, बासठ, तिरसठ, चौंंसठ, पैंंसठ।
छियासठ, सड़सठ, अड़सठ, उनहत्तर, सत्तर।।

इकहत्तर, बहत्तर, तिहत्तर, चौहत्तर, पचहत्तर।
छिहत्तर, सतहत्तर, अठहत्तर, उनासी, अस्सी।।

इक्यासी, बयासी, तिरासी, चौरासी, पचासी।
छियासी, सतासी, अठासी, नवासी, नब्बे।।

इक्‍यानवे, बानवे, तिरानवे, चौरानवे, पचानवे।
छियानवे, सतानवे, अठानवे, निन्यानवे, सौ।

टिप्पणियाँ

VIKASH.KUMAR का छायाचित्र

बहुत बढ़िया

raviraushan का छायाचित्र

धन्‍यवाद सर

raviraushan का छायाचित्र

Useful

19210 registered users
7451 resources