सवा सेर गेहूँ

अवधि : 
00 hours 27 mins

मुंशी प्रेमचंद की एक प्रसिद्ध कहानी है 'सवा सेर गेहूँ'। विभिन्‍न राज्‍यों के स्‍कूलों की पाठ्यपुस्‍तकों में शामिल है। यह उसी कहानी का फिल्‍मांकन है। विद्यार्थियों के बीच इसका प्रदर्शन किया जा सकता है। कहानी ग्रामीण जनजीवन को चित्रित करती है। सवा सेर गेहूँ के बदले कैसे एक ग्रामीण पंडित का बंधुआ मजदूर बन जाता है।

17366 registered users
6658 resources