कक्षा 6-8

भागेन्द्र सिंह नेगी

भागेन्द्र सिंह नेगी

पानी की प्‍लास्टिक बोतल से एक आसान फिरकनी बनाने का तरीका अरविंद गुप्‍ता इस वीडियो में बता रहे हैं। फिरकनी बनाने के लिए बस एक प्‍लास्टिक बोतल और कुछ रंगीन कागज चाहिए होंगे। बोतल काटने के लिए एक कैंची। तो आइए बनाते हैं, यह फिरकनी।

विज्ञान के लोकप्रियकरण के सन्‍दर्भ में अरविन्‍द गुप्‍ता ने जितना काम किया है, शायद ही किसी ओर ने किया हो। किताबें,वीडियो,अनुवाद और फिल्‍में हर विधा में उन्‍होंने ऐसी तमाम सामग्री बनाई है, जिसका उपयोग वर्षों तक होता रहेगा। एकलव्‍य से प्रकाशित उनकी किताब 'खिलौनाें का खजाना' भी इनमें से एक है। हिन्‍दी-अँग्रेजी( दो भाषाओं में एक साथ) में प्रकाशित इस किताब की लगभग दो लाख प्रतियॉं छप चुकी हैं। खिलौनों का खजाना में कबाड़ की तमाम चीजों से विज्ञान के सरल प्रयोग करने की विधियाँ संकलित हैं। इनमें ज्‍यादातर प्रयोग या खिलौने कागज से बनाने के हैं।

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू स्‍वतंत्रता आंदोलन के दौरान जेल में भी रहे। उन्‍हाेंने जेल में बिताए समय का उपयोग किताबें लिखकर किया। जेल में लिखी गई उनकी किताब  'भारत -एक खोज' (डिस्‍कवरी ऑफ इंडिया) बहुत चर्चित हुई है। इस किताब पर आधारित टीवी सीरियल बना, वह भी बहुत चर्चित हुआ। हम सब मौके-बेमौके भारत माता का जयकारा लगाते हैं। लेकिन उसका अर्थ क्‍या है? कौन है भारत माता ?

भारत एक खोज का यह पहला एपीसोड इसका एक सरल और सहज जवाब देता है।

विज्ञान के लोकप्रियकरण के सन्‍दर्भ में अरविन्‍द गुप्‍ता ने जितना काम किया है, शायद ही किसी ओर ने किया हो। किताबें,वीडियो,अनुवाद और फिल्‍में हर विधा में उन्‍होंने ऐसी तमाम सामग्री बनाई है, जिसका उपयोग वर्षों तक होता रहेगा। एकलव्‍य से प्रकाशित उनकी किताब 'खिलौनों का बस्‍ता' भी इनमें से एक है। हिन्‍दी-अँग्रेजी( दो भाषाओं में एक साथ) में प्रकाशित इस किताब की लगभग दो लाख प्रतियॉं छप चुकी हैं। खिलौनों का बस्‍ता में कबाड़ की तमाम चीजों से विज्ञान के सरल प्रयोग करने की विधियाँ संकलित हैं।

इस वीडियो का मुख्‍य उद्देश्‍य उच्‍च प्राथमिक कक्षाओं में विद्यार्थियों को पढ़ाए जा रहे विभिन्‍न विषयों में उनकी प्रगति की निगरानी करना और उस पर फीडबैक देना है। लेकिन उसके साथ-साथ यह उस विषय को अपने परिवेश से कैसे जोड़ा जाए, इस बारे में भी अच्‍छे से बताता है। 

विज्ञान के दो घटक होते हैं - एक ज्ञान का संगठन (विषय वस्तु), और दूसरा, वह प्रक्रिया जिसके द्वारा उस ज्ञान का उत्पादन किया जाता है। विज्ञान के इस दूसरे घटक ‘वैज्ञानिक प्रक्रिया’ से हमें सोचने और दुनिया के बारे में जानने के एक तरीके की समझ मिलती है। लेकिन आमतौर पर, हम केवल विज्ञान का ‘ज्ञान का संगठन’ घटक देखते हैं। वैज्ञानिक अवधारणाएँ हमारे सामने एक कथन के रूप में प्रस्तुत की जाती हैं जैसे - पृथ्वी गोल है, इलेक्ट्रॉनों पर ऋणात्मक आवेश पाया जाता है, हमारे आनुवंशिक कोड हमारे डीएनए में निहित हैं, ब्रह्माण्ड 13.7 अरब साल पुराना है। लेकिन

महात्‍मा गांधी को ज्‍यादातर लोग बस इसलिए जानते हैं कि उन्‍होंने आजादी की लड़ाई में हिस्‍सा लिया था, वे वकील थे, चरखा चलाते थे और धोती पहनते थे। उनकी हत्‍या हो गई थी, और उन्‍हें राष्‍ट्रपिता कहा जाता है। वास्‍तव में गांधी जी का परिचय इतना भर नहीं है।

वे अपने निजी जीवन में दर्जी,नाई,भंगी,मोची,दाई,रसोईया,धोबी,शिक्षक जैसी तमाम भूमिकाओं में भी काम करते रहे हैं। उनके इन कामों के बारे में जानने से न केवल उनके चरित्र के विभिन्‍न आयाम खुलते हैं, वरन् बहुत कुछ सोचने और सीखने को भी मिलता है।

पृष्ठ

14064 registered users
5913 resources