कक्षा 3 - 5

भागेन्द्र सिंह नेगी

भागेन्द्र सिंह नेगी

विजय प्रकाश जैन

पानी की प्‍लास्टिक बोतल से एक आसान फिरकनी बनाने का तरीका अरविंद गुप्‍ता इस वीडियो में बता रहे हैं। फिरकनी बनाने के लिए बस एक प्‍लास्टिक बोतल और कुछ रंगीन कागज चाहिए होंगे। बोतल काटने के लिए एक कैंची। तो आइए बनाते हैं, यह फिरकनी।

ब्रजेश वर्मा

पढ़ना  सीखने  की  प्रक्रिया में एक  निर्णायक और अत्यन्त महत्वपूर्ण मोड़ तब आता है जब बच्चे के सामने यह रहस्य खुल जाता है कि शब्द कुछ आवाजों, अक्षरों का मेल हैं जिन्हें क्रम से उच्चारित करना होता है। और इन आवाजों का क्रम बदलकर अनेक शब्द बनाए जा सकते हैं। गोलू ने मुस्कान के आवासीय शिविर में इतना भर सीखा था। इसके बाद का सीखना उसकी निजी रुचि और प्रयासों का नतीजा था।

ऐसे बच्‍चों के साथ काम करना आसान नहीं होता है, जिनसे आप पहली बार मिल रहे हों। खासकर कार्यशालाओं में।  कुछ भी काम शुरू करने से पहले बच्‍चों के संकोच और झिझक को तोड़ा जाना जरूरी होता है, ताकि वे न केवल एक-दूसरे से वरन् कार्यशाला संचालित कर रहे स्रोत व्‍यक्तियों से भी सहज हो जाएँ। ऐसी कार्यशालाओं को आयोजित करने वाले और उन्‍हें संचालित करने वाले नवाचारी कार्यकर्त्‍ता नए-नए तरीके विकसित करते ही रहते हैं।जानी-मानी शैक्षिक संस्‍था एकलव्‍य में कई सालों तक कार्यरत रहे कार्यकर्त्‍ता कार्तिक शर्मा इनमें से एक हैं। इन दिनों वे स्‍वंतत्र रूप से कार्य कर रहे हैं।

विज्ञान के लोकप्रियकरण के सन्‍दर्भ में अरविन्‍द गुप्‍ता ने जितना काम किया है, शायद ही किसी ओर ने किया हो। किताबें,वीडियो,अनुवाद और फिल्‍में हर विधा में उन्‍होंने ऐसी तमाम सामग्री बनाई है, जिसका उपयोग वर्षों तक होता रहेगा। एकलव्‍य से प्रकाशित उनकी किताब 'खिलौनाें का खजाना' भी इनमें से एक है। हिन्‍दी-अँग्रेजी( दो भाषाओं में एक साथ) में प्रकाशित इस किताब की लगभग दो लाख प्रतियॉं छप चुकी हैं। खिलौनों का खजाना में कबाड़ की तमाम चीजों से विज्ञान के सरल प्रयोग करने की विधियाँ संकलित हैं। इनमें ज्‍यादातर प्रयोग या खिलौने कागज से बनाने के हैं।

सविता सोहित व शिवानी तनेजा


इस लेख के जरिए हम कक्षा में बच्चों की प्रथम भाषा को एक संसाधन के रूप में इस्तेमाल कर व्याकरण के नियमों को ढूँढ़ने के अनुभवों को साझा कर रहे हैं। सविता ने कक्षा में बच्चों की सक्रिय भागीदारी को यहाँ विस्तार से प्रदर्शित किया है। अन्त में शिवानी ने कक्षा की प्रक्रियाओं का संक्षिप्त विश्लेषण किया है।

प्राथमिक कक्षाओं में भाषा शिक्षण में छोटी और सरस कविताओं का बहुत महत्‍व होता है। आमतौर पर शिक्षक जो कविताएँ पाठ्यपुस्‍तक में हैं, उन पर ही निर्भर रहते हैं। जरूरी है कि बच्‍चों को कुछ अन्‍य कविताओं से भी परिचित करवाया जाए।

ऐसी ही कविताओं के कुछ संकलन एकलव्‍य ने प्रकाशित किए हैं। ऐसा ही एक संग्रह है 'नई सवारी'। इसमें 14 कविताएँ हैं। ये कविताऍं चर्चित बालविज्ञान पत्रिका 'चकमक' से संग्रहित की गई हैं। आप भी इन कविताओं का उपयोग करके देखें।

पृष्ठ

14064 registered users
5913 resources