सौदानसिंह

सौदानसिंह प्राथमिक विद्यालय के एक सजग अध्यापक हैं। ऐसे अध्यापक जो समस्या को सामने देखकर हारकर नहीं बैठ जाते, बल्कि उसे हल करने का प्रयास करते हैं। वे नियमों की बंदिशों को अपनी सीमा नहीं मान लेते, बल्कि उनमें से भी अपने लिए नए रास्ते खोजने का प्रयास करते हैं। रास्ते ऐसे जिनमें समाज का हित निहित है। एक अध्यापक को जो सबसे पहले होना चाहिए एक अच्छा इंसान, जो वे हैं। उन्होंने अपने विद्यालय में बच्चों की शिक्षा तथा बेहतरी के लिए जो प्रयास किए उनमें से कुछ की झलक यहाँ प्रस्तुंत है।

हिन्दी
17576 registered users
6684 resources