सामाजिक कुरीति

शिक्षक में बच्चों के अकादमिक स्तर को बदलने के साथ-साथ समाज को बदलने को एक जोश/उत्साह देखा गया। शिक्षक की बातें सुनकर लगता है कि समाज में कुछ चीजों को लेकर बदलाव करना चाहते हैं। इसी पर उनके द्वारा सामाजिक क्षेत्र में जागरूकता लाने के लिए एक पहल की गई और आगे भी इसके लिए प्रयासरत हैं। शिक्षक मृत्युभोज विरोधी सत्याग्रह आन्दोलन ‘मृत्युभोज अभिशाप, समझें व समझाएँ आप’ से जुड़े हैं तथा समाज में जागरूकता व शिक्षा की अलख जगा रहे हैं।

हिन्दी
19301 registered users
7712 resources