शि‍क्षक

प्रकाश नई पीढ़ी के शिक्षक हैं। उन्हें देखकर ‘थ्री ईडियट्स’ का रैंचो-फुनसुकवांगड़ू याद आता है जो बड़ा साइंटिस्ट है लेकिन चुपचाप दूर किसी गाँव में बच्चों को पढ़ाने का सुख ले रहा है। क्योंकि यही उसका जुनून था। विज्ञान के नए-नए फार्मूले बच्चों के लिए खेल हैं। किताबें ऊब से नहीं, जीवन से भरी हैं। जिन्‍दगी जैसे यहाँ खुलकर साँस ले रही हो।

हिन्दी
18784 registered users
7333 resources