विज्ञान

गम्‍भीर शिक्षकों ने हमेशा ही यह सवाल उठाया है कि पैसों और साधनों के अभाव में भारत में क्रियाओं द्वारा विज्ञान कैसे संभव होगा। दुनिया भर का यही अनुभव है - रेडीमेड विज्ञान की किट्स कभी उपयोग में नहीं लाई जातीं। उन पर धूल जमती है। जो मॉडल बच्चे और शिक्षक खुद मिलकर बनाते हैं वही अधिक उपयोगी होते हैं। सस्ते साज सामान से विज्ञान के सरल मॉडल बनाने की अपार संभावनाएँ हैं। द्वितीय महायुद्ध में तमाम देश तबाह हुए। आर्थिक तंगी में कई देशों ने स्कूल इमारतों के निर्माण का काम तो पूरा किया, परन्तु उसके बाद उनके पास विज्ञान की प्रयोगशालाएँ रचने के ल

विज्ञान शिक्षण के क्रम में विज्ञान की गतिविधियाँ करना और सीखना – यह तो कोई नई बात नहीं है, परन्तु यह पढ़कर और देखकर आपको जरूर आश्चर्य हो सकता है कि एक मेले में विज्ञान की गतिविधियों के माध्यम से बच्चों ने 15 से 20 वैज्ञानिक अवधारणाओं को समझा और अपने ज्ञान का सृजन किया।

माध्‍यमिक विज्ञान की एक कक्षा में शिक्षिका अपने पाठ को कुछ तरह पढ़ा रही हैं कि विज्ञान की अवधारणाऍं सभी विद्यार्थियों को स्‍पष्‍ट हो सकें। शिक्षिका इस दौरान विद्यार्थियाें के समूह बनाकर भी काम करवाती हैं।

आप भी देखें...शायद यह तरीका आपके काम का भी हो।

विज्ञान के प्रमुख शिक्षण संस्थानों में सदैव ही पुरुषों का वर्चस्व रहा है और महिलाओं की संख्या नगण्य। शायद ऐसा विज्ञान विषय की प्रकृति और इन संस्थानों की पुरुषवादी सोच के कारण है। इस बारे में अपने अनुभव और अपने विचार विवेक वेलांकी के साथ साझा कर रही हैं चयनिका शाह जिन्होंने आई.आई.टी., मुम्बई से पीएच.डी.

जब राजेश खिंदरी ने सुझाव दिया कि मैं संदर्भ के इस विशेषांक के लिए एक लेख लिखूँ, तो मुझे ‘हाँ’ कहने में कोई हिचकिचाहट नहीं हुई, लेकिन जल्दी ही मुझे एहसास हुआ कि जिस विषय के बारे में वे मुझसे लिखवाना चाहते थे - भारत में विज्ञान पत्रकारिता का इतिहास - उसके बारे में मैं अधिक नहीं जानता था, इस तथ्य के बावजूद कि 35 वर्षों की अधिकांश अवधि के दौरान मैं एक ‘विज्ञान’ पत्

प्राथमिक कक्षा में विज्ञान को कहानी के माध्‍यम से पढ़ाने का एक सुन्‍दर प्रयोग इस वीडियो में प्रस्‍तुत किया गया है।

विज्ञान में बल पढ़ाने के दौरान मेरे क्या अनुभव थे वो साझा कर रहा हूँ। मैं यह अनुभव रोजाना की मेरी डायरी से ले रहा हूँ जो तब लिखी थी जब मुझे अज़ीम प्रेमजी संस्थान ने टोंक के मोलईपुरा गाँव के स्कूल की कक्षा 7वीं में विज्ञान पढ़ाने का मौका दिया ।

शुरू में कुछ दिन बच्चों और शिक्षकों के साथ अपना ताल-मेल बिठाकर और अवलोकन करने के बाद मैंने “बल” पढ़ाना शुरू किया । 

विद्यालय में उच्‍च प्राथमिक कक्षा में अँग्रेजी के अध्‍यापन के लिए विज्ञान के पाठ का उपयोग करतीं एक शिक्षिका। भाषा को दूसरे विषय के साथ जोड़कर पढ़ाने का एक अनोखा प्रयास। इसमें स्‍थानीय संसाधनों का उपयोग भी किया जा रहा है। देखें, शायद आपके लिए भी उपयोगी हो।

उच्‍च प्राथमिक विज्ञान की कक्षा में समूहों में काम करते हुए किसी अवधारणा को समझना कैसे आसान हो सकता है, यह वीडियो प्रदर्शित करता है। शिक्षण केवल शिक्षक ही नहीं करते, बच्‍चे भी आपस में कर सकते हैं।

शिक्षक प्रयोग प्रदर्शन के तहत विद्यार्थियों को कोई प्रयोग, प्रक्रिया या परिघटना को दर्शाते हैं। यह एक युक्ति है, जिसका उपयोग विज्ञान के शिक्षण में प्रायः किया जाता है। यह इकाई इस बारे में समझ विकसित करने में आपकी मदद करती है कि प्रयोग प्रदर्शन का उपयोग प्रभावी रूप से कैसे किया जा सकता है, जो कि इस मामले में, भोजन के बारे में पढ़ाने के दौरान है।

पृष्ठ

18789 registered users
7333 resources