नासिर हुसैन

नासिर जी कहते हैं, 'प्राथमिक विद्यालयों में अध्यापक का ठहराव कम से कम चार या पाँच वर्ष आवश्यक है ताकि वे अर्जित लक्ष्यों की प्राप्ति कर सकें। बच्चों को सहज बनाने के लिए अनवरत प्रयास की आवश्यकता होती है। इसलिए राज्य सरकार को इस बात पर गंभीरता से विचार करना चाहिए। बच्चा कक्षा एक में प्रवेश लेकर सीखने की प्रक्रिया से जुड़ता है और चार-पाँच साल तक उस विद्यालय में ही सीखने की प्रक्रिया से गुजरता रहता है। एक सक्रिय अध्यापक का अन्तिम लक्ष्य चार-पाँच साल में जाकर ही पूरा हो पाता है क्योंकि बच्चा कक्षा 5 के बाद अन्य विद्यालय में चला जाता है।'

हिन्दी
18477 registered users
7227 resources