तलसाराम मीणा

आमतौर पर हम सभी अव्‍यवस्‍थाओं और समस्‍याओं के बारे में ही बात करते रहते हैं। किन्‍तु जब भी कोई इनसे टकराने या इनके समाधान के बारे में सोचता है तो वह जरूर सफल होता है। तलसाराम मीणा ने भी अपने विद्यालय में एक ऐसा छोटा ही सही पर सकारात्‍मक कदम उठाया और उन्‍हें इसमें सफलता भी मिली और हौसला भी। वे कहते हैं, ‘मैं शैक्षिक नवाचारों के लिए हमेशा प्रयासरत रहूँगा।’ आइए जानते हैं उनके प्रयास के बारे में।

हिन्दी
18799 registered users
7333 resources