समय का शिक्षण

समय एक ऐसी अवधारणा है जो मानव द्वारा प्रतिदिन इस्‍तेमाल की जाती है और सम्‍भवत: जानवरों व पौधों के जीवन में भी सहज रूप से इसका इस्‍तेमाल होता है। मुर्गे को पता होता है कि उसे बाँग कब देनी है। फूलों को पता होता है कि उन्‍हें कब अपनी पंखुडि़याँ खोलनी हैं। पेड़ों को पता होता है कब अपने पत्‍ते झड़ाने हैं।

स्‍कूल आने से ठीक पहले एक महत्‍वपूर्ण घटक के रूप में समय की अवधारणा से बच्‍चों का सामना होता है।
फिर भी समय की अवधारणा को सीखना व सिखाना दोनों ही खासा चुनौतीपूर्ण होता है। समय एक अमूर्त अवधारणा है। इसमें एक ऐसी चीज का मापन शामिल है जिसे देखा व छुआ नहीं जा सकता। परिणामस्‍वरूप समय की अवधारणा को समझने में चुनौतियाँ उत्‍पन्‍न होती हैं। यांत्रिक रूप से समय को पढ़ना सीखना भी एक मुश्‍किल काम हो सकता है। इसलिए यह महत्‍वपूर्ण है कि समय की अवधारणा पढ़ाने का आधार ध्‍यानपूर्वक तैयार किया जाए व बच्‍चों की समझ के स्‍तर के अनुरूप  गतिविधियों का मिलान किया जाए।

 


At Right Angles (a resource for school mathematics) Volume 6, N0.1 March 2017
Pullout : Teaching Time  का हिन्‍दी अनुवाद
पद्मप्रिया शिराली

19220 registered users
7452 resources