सावित्रीबाई फुले : एक शिक्षिका की कहानी

भारत में बालिकाओं की शिक्षा के लिए किए गए प्रयासों के लिए सावित्रीबाई फुले का नाम सबसे पहले आता है।वे स्‍वयं नौ बरस की उमर में विवाहित हो जाने के बावजूद शिक्षा प्राप्‍त कर शिक्षिका बनीं। उन्‍होंने अपने पति ज्‍योतिराव फुले के साथ मिलकर बालिकाओं के लिए एक स्‍कूल की शुरुआत की। माना जाता है कि बालिकाओं के लिए वह पहला स्‍कूल था।

सावित्रीबाई का जन्‍म 3 जनवरी,1831 में महाराष्‍ट्र के सतारा जिले में हुआ था। उनका निधन 10 मार्च, 1897 को हुआ।

अज़ीम प्रेमजी विश्‍वविद्यालय ने उनके जीवन पर आधारित एक ग्राफिक उपन्‍यास का प्रकाशन किया है। यहाँ वह ईबुक के रूप में उपलब्‍ध है।

डाउनलोड करें: apf_14_1455_savitribai_book_hindi_final_22-02-14.pdf
16459 registered users
6562 resources