अपने आस-पास 4

इस पुस्तक में हल्का और भारी, बढ़ना, पानी, और तैरना-डूबना शीर्षक से अध्याय हैं। एक बार फिर पहली तीन पुस्तकों की ही तरह बल इस बात पर है कि बच्चे स्वयं बहुत कुछ कर के देखें। जैसे, तराजू बनाना, पानी से जुड़ी कुछ गतिविधियाँ करना, पौधे उगाना और उन की प्रगति देखना आदि। गृह कार्य दिया गया है, लेकिन वह इस प्रकृति का है कि गृह कार्य जैसा लगने की बजाए बच्चों के लिए एक खेल की तरह का हो, वे कुछ ऐसा कर रहे हों जिस में उन्हें कुछ सीखने को तो मिले ही, लेकिन उसे करते हुए मज़ा भी आए।

डाउनलोड करें: aap4.pdf

टिप्पणियाँ

rajesh kumar shilpkar का छायाचित्र

The E-Book is useful for students but Its printing and layout could be better by using colours and graphics.

18904 registered users
7392 resources