शिक्षा का माध्यम मातृभाषा क्यों न हो ?

By अमरजीत सिंह | जुलाई 18, 2017

हमारे देश में विश्वविद्यालय स्तर पर शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी भाषा को बनाया हुआ है ! और अब यह प्रवृति प्राथमिक शिक्षा और माध्यमिक शिक्षा में बढती जा रही है ! क्या इससे शिक्षा का स्तर ऊँचा होता है या और भी खराब होता है ?
शिक्षकों के अनुभव इस विषय पर क्या हैं ?

Himaanshu का छायाचित्र

शिक्षा का माध्यम मातृभाषा ही होना चाहिए! जिस भाषा में सहज रूप से समझ बने और अभिव्यक्ति संभव हो उसे माध्यम बनाया जाना आवश्यक है। शिक्षा के स्तर को लेकर कुछ बातें की जा सकतीं है, वह भी मातृभाषा में उपलब्ध शैक्षिक संसाधनों को लेकर। शेष मातृभाषा में शिक्षण स्तर को उन्नत ही बनायेगा।

UKM123 का छायाचित्र

शिक्षा का माध्यम जो भी हो वह विद्यार्थी की क्षमताओं के अनुकूल होना चाहिए ! रही बात मातृभाषा की ये तो हम सब जानते है कि माँ ही बच्चों ले लिए पहली औपचारिक और अनौपचारिक दोनो प्रकार की शिक्षा का माध्यम होती है ये वो शिक्षा होती है जो बालक के साथ जीवन पर्यंत रहती है | रही बात मातृभाषा की तो यह प्राथमिक ही नही बल्कि उच्च शिक्षा का भी माध्यम बन सकती है ये छात्रों के चहुमुखी विकास के लिए सर्वोत्कृष्ट साधन सिद्ध होगा |

18621 registered users
7274 resources