विद्यालय का वातावरण

By Rahul Tripathi | जनवरी 16, 2019

विद्यालय का वातावरण ऐसा हो कि, जैसे बच्चे छुट्टी के बाद घर की ओर दौड़ते हुए
जाते हैं, उसी तरह सुबह वो घर से दौड़ते हुए स्कूल भी आएं।

Rahul Tripathi का छायाचित्र

मेरे अपने विचार यह कहते हैं जोकि मैने विद्यालय में कार्य करने के दौरान अनुभव किया है, की यदि बच्चों को नियमित नए नए क्रियाकलापों को करवाकर सिखाया जाय तो उनका लर्निंग आउटकम तेजी से ग्रो करता है, जैसे बाल संसद, बाला का उपयोग इत्यादि

kku का छायाचित्र

विद्यालय में एक साकारात्मक ऊर्जा का संचार होना चाहिए । यदि अध्यापक इस नवीन ऊर्जा के साथ कक्षा में आयें तो उस ऊर्जा का संचार विद्यार्थियों तक पहुंचेगा । व्यक्तिगत समस्याओं को अध्यापक स्कूल के मुख्य द्वार के बाहर ही छोड़ दे और इस संकल्प के साथ प्रवेश करें कि आज का दिन विद्यार्थियों और स्वयं के लिए श्रेष्ठ और ज्ञानात्मक बनाना है ।

19515 registered users
7758 resources