सामग्री एवं विषयवस्तु से सम्बन्धित नीति

शिक्षकों के लिए अपनी भाषा में

शिक्षक पोर्टल www.teachersofindia.org सम्पूर्ण भारत में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के उद्देश्य से प्रेरित है। इसकी कल्पना देश भर के शिक्षक समुदाय के लिए एक मंच के तौर पर की गई है। शिक्षक समुदाय इसका प्रयोग करने के लिए प्रेरित हो, वह भी इसके लिए संसाधन जुटाने में शामिल रहे और ये संसाधन सबके साथ साझा किए जाएँ।

यह पोर्टल मुख्य तौर से भारत भर के शासकीय प्रारम्भिक स्कूलों के शिक्षकों के लिए है। इस बात को ध्यान में रखते हुए कि शिक्षक अपनी मातृभाषा में अधिक सहज महसूस करते हैं,  टीचर्स ऑफ इण्डिया की कोशिश है कि सामग्री विभिन्‍न भारतीय भाषाओं में उपलब्ध करवाई जाए। इस समय पोर्टल पर सामग्री चार भारतीय भाषाओं हिन्‍दी,कन्‍नड़, तमिल तथा तेलुगू एवं अंग्रेजी में है। धीरे-धीरे अन्‍य भारतीय भाषाओं को भी इसमें जोड़ने की कोशिश की जाएगी।

टीचर्स ऑफ इण्डिया पर उपलब्‍ध सामग्री : कुछ मुख्‍य बातें

शिक्षकों का यह मंच, www.teachersofindia.org, शिक्षकों के लिए विचार-विमर्श, चिन्तन-मनन, परस्पर चर्चा, और संसाधनों की रचना तथा उन्हें साझा करने का स्थान है। पोर्टल पर दी जा रही सामग्री एवं आयोजित गतिविधियाँ दो मुख्य क्षेत्रों से सम्बद्ध हैं - ‘शिक्षक विकास’ और ‘कक्षा संसाधन’।

टीचर्स ऑफ इण्डिया पर प्रकाशित सामग्री शिक्षकों,पोर्टल के उपयोगकर्ताओं, साझीदार संस्थाओं तथा टीचर्स ऑफ इण्डिया टीम एवं उससे जुड़े विभिन्न विषय विशेषज्ञों द्वारा तैयार की जाती है।

कक्षा संसाधनों के रूप में प्रस्‍तुत सामग्री की गुणवत्ता, प्रासंगिकता और औचित्य का विशेष ध्यान रखा जाता है। टीचर्स ऑफ इण्डिया के सम्पादक विभिन्न विषय विशेषज्ञों, भाषा के जानकारों और ऑनलाइन समीक्षकों की मदद से इन बातों को सुनिश्चित करने में लगातार प्रयासरत रहते हैं। (देखें समीक्षा प्रक्रिया।)

टीचर्स ऑफ इण्डिया की अपेक्षा है कि अधिकतर सामग्री विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों और भाषाओं के शिक्षकों द्वारा प्रदान की जाए। हम चाहते हैं कि पोर्टल पर उपलब्ध सामग्री प्रत्येक क्षेत्र की जमीनी हकीकत, वहाँ की संस्कृति और शैक्षिक जरूरतों से उपजी हुई हो। सामग्री पोर्टल पर ऑनलाइन या डाक/कूरियर के माध्यम से भेजी जा सकती है। (देखें सामग्री भेजने के लिए दिशा-निर्देश।)  

साझीदार संस्थाओं द्वारा तैयार किए गए गुणवत्तापूर्ण संसाधनों को शिक्षक समुदाय तक पहुँचाना टीचर्स ऑफ इण्डिया की उच्‍च प्राथमिकता है। देश भर में कई ऐसी संस्थाएँ और संगठन हैं जो विभिन्न भाषाओं में अच्छी सामग्री का निर्माण करते हैं लेकिन उनकी पहुँच सीमित लोगों तक होती है। यह पोर्टल इस तरह की सामग्री के प्रसार का एक सशक्‍त माध्यम हो सकता है। देश की कुछ जानी-मानी संस्‍थाएँ और संगठन टीचर्स ऑफ इण्डिया के साझीदार हैं। अन्‍य संस्‍थाएँ और संगठन भी साझीदार बन सकते हैं।

टीचर्स ऑफ इण्डिया की कोशिश है कि गुणवत्तापूर्ण सामग्री किसी भाषा विशेष तक सीमित न रहे, वह अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचे। इसलिए ऐसी सामग्री का विभिन्न भाषाओं में अनुवाद पोर्टल पर प्रकाशित किया जा रहा है।

टीचर्स ऑफ इण्डिया शिक्षकों के बीच परस्पर आदान-प्रदान का खुला मंच है। कोशिश है कि शिक्षा और विकास से सम्बन्धित मुद्दों पर सार्थक बहस और बातचीत-चर्चा हो। विचारों के तार्किक आदान-प्रदान के लिए वे स्वयं को स्वतन्त्र महसूस करें। इस प्रक्रिया पर न्यूनतम स्तर की निगरानी रखी जाती है ताकि भाषा और सामग्री की शालीनता बनी रहे। ( देखें चर्चा तथा अन्‍य  विमर्शो में शामिल होते समय ध्‍यान रखने योग्‍य कुछ बातें।)

कॉपीराइट सम्बन्धी नीति

टीचर्स ऑफ इण्डिया चाहता है कि उसकी सामग्री और संसाधनों का उपयोग पूरे भारत में विभिन्न भाषाओं में शिक्षा सम्बन्धी उद्देश्यों की पूर्ति के लिए खुले तौर पर हो। इसलिए हम क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेन्स का इस्तेमाल करते हैं, जिसकी प्रकृति सबसे उदारवादी है। इसमें केवल इतनी ही अपेक्षा है कि सामग्री का जिम्मेदाराना प्रयोग सुनिश्चित किया जा सके। किन्‍तु पोर्टल पर उपलब्‍ध सारी सामग्री क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेन्स के अन्‍तर्गत नहीं है।

पोर्टल पर प्रत्येक संसाधन के साथ एक लाइसेन्‍स प्रतीक-चिह्न दिया गया है। लाइसेन्‍स के प्रकार, उनके प्रतीक चिन्‍ह तथा सम्बन्धित जानकारी यहाँ नीचे दी गई है। अनुरोध है कि कृपया इसे ध्यान से पढ़ लें, उसके अर्थ को अच्छे से समझ लें ताकि आपको मालूम रहे कि उक्‍त संसाधन का  उपयोग किस तरह से किया जा सकता है।

Attribution - Non Commercial – Share Alike CC BY-NC-SA
यह लाइसेन्स प्रयोगकर्ता को अनुमति देता है कि वह इस सामग्री को कॉपी कर सकता है, पुन: वितरित कर सकता है, आवश्यकतानुसार कुछ हद तक बदल सकता है और इससे किसी भी प्रकार का आर्थिक लाभ लिए बिना इसे इस्तेमाल कर सकता है। शर्त यह है कि वह उस स्रोत का उल्लेख करे जहाँ से यह सामग्री उपलब्ध हुई है। साथ ही नए रूप में भी सामग्री को इसी लाइसेन्स के तहत रखे।

 Attribution – Non Commercial – No Derivs  CC BY-NC-ND
यह लाइसेन्स प्रयोगकर्ता को संसाधन डाउनलोड करने और दूसरों के साथ उसे साझा करने की अनुमति देता है। शर्त यह है कि स्रोत का उल्लेख किया जाए। लेकिन ध्‍यान रखें संसाधन को किसी भी तरह बदला नहीं जा सकता, न ही उसका प्रयोग किसी वित्तीय लाभ के लिए किया जा सकता है।

© All Rights Reserved/सर्वाधिकार सुरक्षित
यह कॉपीराइट कानून के अधीन आता है जिसके अन्तर्गत प्रयोगकर्ता द्वारा संसाधन को कॉपी नहीं किया जा सकता, न ही वे इसे वितरित या किसी भी रूप में परिवर्तित कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए कॉपीराइट-धारक व्यक्ति या संस्था से इसकी अनुमति लेना आवश्यक है।

क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेन्स के बारे में अधिक जानकारी हेतु यहाँ click  करें।

स्टैण्डर्ड यू ट्यूब लाइसेन्स सर्वाधिकार सुरक्षित की ही तरह है। अधिक जानकारी के लिए यहाँ click करें। 

पूर्व प्रकाशित लेखों का पुन: प्रकाशन

पहले कहीं और प्रकाशित लेख लेखक की अनुमति या कॉपीराइट-धारक की अनुमति से पोर्टल पर पुन: प्रकाशित किए जा सकते हैं। लेख के अन्त में पूर्व प्रकाशन की जानकारी देते हुए उसके अंक,माह,वर्ष आदि का उल्लेख होना चाहिए। ऐसे संसाधन आवश्‍यक अनुमति पत्र (कॉपीराइट का मूल अधिकार रखने वाले से प्राप्त) के साथ ही पोर्टल को भेजे जाने चाहिए।

लेखक टीचर्स पोर्टल www.teachersofindia.org पर पहली बार प्रकाशित अपने लेखों को पुन: कहीं और प्रकाशित करवाने के लिए स्वतन्त्र होंगे। हाँ, उन्हें इस बात का उल्लेख करना होगा कि लेख सर्वप्रथम www.teachersofindia.org पर छ्पा था।

बौद्धिक ईमानदारी (कॉपीराइट तथा नकल)

टीचर्स ऑफ इण्डिया बौद्धिक सम्पत्ति अधिकारों का आदर करता है, उन्हें लागू करता है और पोर्टल पर योगदान देने वालों को भी इसके लिए प्रेरित करता है। अपेक्षा है कि लेखक जो लेख भेजें वे उनके मौलिक ही होने चाहिए। साथ ही उन्‍हें यह घोषित करना चाहिए कि वे उनके अपने हैं तथा अन्‍य किसी लेखक की रचना से प्रेरित या नकल नहीं हैं। अगर ऐसा कोई तथ्‍य है तो उसका स्‍पष्‍ट तौर पर उल्‍लेख किया जाना चाहिए।  

यह समझ है कि पोर्टल को दिए गए संसाधन हमेशा के लिए दिए गए हैं। यदि कोई किसी भी कारण से संसाधन को वापिस लेना चाहे तो टीचर्स ऑफ इण्डिया के सम्पादक को इसके बारे में लिखा जा सकता है। हम विनम्रता से यह कहना चाहेंगे कि लेखक को पोर्टल पर से उन्हें वापिस लेने या हटाने का अधिकार नहीं होगा, न ही वे इस मकसद से उसकी पहुँच में होंगे।

टीचर्स ऑफ इण्डिया हर प्रकार की सामग्री का स्वागत करता हैं लेकिन सम्पादकीय समूह के पास यह अधिकार सुरक्षित है कि वह किसी भी ऐसी सामग्री को प्रकाशित न करे जो उसे अरुचिपूर्ण या पोर्टल के पाठकों के लिए अप्रासंगिक लगे। टीचर्स ऑफ इण्डिया बिना कोई कारण बताए और लेखक को पूर्व सूचना दिए बिना किसी भी टिप्पणी या सामग्री को हटाने का अधिकार सुरक्षित रखता है।

14064 registered users
5913 resources