किशन का उड़नखटोला

किशन का उड़नखटोला
अवधि : 
00 hours 12 mins

इतनी सुन्‍दर फिल्‍म मैंने आज तक नहीं देखी। 12 मिनट में शिक्षा का वह दर्शन इसमें फिल्‍माया गया है, जिसे शायद किसी और को समझाने में 12 घण्‍टे लगें। इसे वर्षों पहले, इतने पहले कि जब ब्‍लैक एंड व्‍हाइट का जमाना था, तब एनसीईआरटी के शिक्षा प्रौद्योगिकी केन्‍द्र ने यूनिसेफ और यूनेस्‍को की मदद से बनाया था। यूटयूब पर इसे जाने-माने जनविज्ञानी अरविन्‍द गुप्‍ता ने अपलोड किया है।
 

इस फिल्‍म को हर शिक्षक को, हर अभिभावक को, हर प्रशिक्षक को और हर विद्यार्थी को देखना चाहिए। अगर अब तक आपने न देखी हो तो अभी इसी वक्‍त देख डालें।    0 राजेश उत्‍साही

 

टिप्पणियाँ

ratanchoudhary का छायाचित्र

हमें भी शिक्षण में बच्चों के स्वछंद कौतुहल को पूरा पूरा स्थान देना चाहिए

nrawal का छायाचित्र

बहुत ही अच्छी फ़िल्म है..... दुःख की बात यह है कि वर्षों पूर्व बनाई गई यह फ़िल्म आज भी प्रासंगिक है ......शिक्षक गण इस तरह की प्रेरणा दायक फिल्मों और कथानकों की तारीफ तो करते हैं पर इनसे कुछ सीख ले उसे अपनाने में झिझकते हैं ...ऐसा क्यों है ?

13038 registered users
5587 resources