पक्षी-दर्शन

मध्‍यप्रदेश के सागर जिले के राहतगढ़ ब्लॉक की कल्याणपुर शाला के शिक्षक रामेश्वर प्रसाद लोधी ने पर्यावरण अध्ययन को बच्चों के जीवन के अनुभवों से जोड़ने के लिए एक अनूठा प्रोजेक्ट क्रियान्वित किया है। बच्चे इस प्रोजेक्ट से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने अपने घरों में भी इस प्रोजेक्ट को तैयार किया है। इससे बच्चों में प्रश्न करने, खोज करने, अवलोकन करने, चर्चा करने, अभिव्यक्ति करने, व्याख्या करने वर्गीकरण करने, विश्लेषण करने और प्रयोग करने के कौशल विकसित हुए हैं। बच्चों और शिक्षकों के साथ ही गाँव के लोगों में भी पक्षियों के प्रति संवेदनशीलता और जागरूकता बढ़ रही है। बच्चे इस प्रोजेक्ट में खुद जिम्मेदारियाँ ले रहे हैं और इन्हें पूरा करने में आपसी सहयोग कर रहे हैं। यहॉं उसकी एक रिपोर्ट पीडीएफ के रूप में मौजूद है। इसे हिमांशु श्रीकृष्‍ण खोले ने तैयार किया है।

16771 registered users
6597 resources