नक्‍शा बनाओ

Resource Info

बुनियादी जानकारी

नक्‍शे काफी दिलकश होते हैं! किसी नक्‍शे को अपने हाथ में लेना पूरी दुनिया को अपने हाथों में लेने जैसा है। सोचो खुद किसी चीज का नक्‍शा तैयार करना कितना दिलचस्‍प होता होगा ना! यहाँ दी गई गतिविधि विद्यार्थियों को अपने स्‍कूल को बेहतर तरीके से देखने के लिए प्रेरित करेगी और अपनी पाठ्यपुस्तकों से उन्‍होंने नक्‍शे के बारे में जो कुछ भी सीखा है उसे इस्‍तेमाल करने में उनकी मदद करेगी।

अवधि : 
02 hours 05 mins
उद्देश्‍य : 
  • स्‍थान की दृष्टि से सोच पाना
  • आकार, दिशाओं का मोटा-मोटा अनुमान लगा पाना
  • रंग संकेतों (कलर कोड) को समझना व उनका इस्‍तेमाल कर पाना
  • किसी जगह के आकाशीय दृश्‍य (यानी आकाश से देखने पर वह कैसा दिखेगा) की कल्‍पना कर पाना
  • नक्‍शों को समझना
  • नक्‍शों को पढ़ना सीखना और उन पर दी गई जानकारी/प्रतीकों को समझना
  • समूहों में काम करना
गतिविधि चरण: 
  1. सबसे अच्‍छा होगा कि यह गतिविधि नक्‍शे वाले पाठ को पढ़ाने के दौरान या इसके ठीक बाद करवाई जाए।
  1. गतिविधि करने से पहले नक्‍शों को पढ़ने का खूब अभ्‍यास करें। कुछ इस तरह की जानकारी पूछें:

................ के पूर्व में क्‍या है?

सबसे बड़ा राज्‍य कौन-सा है?

दिशाओं के बारे में तुम्‍हें कैसे पता चलता है?

पैमाना क्‍या होता है? बड़ी दूरियों को हम किस तरह दिखा सकते हैं?
 

  1. बच्‍चों को समूहों में विभाजित करें (बेहतर होगा यदि हर समूह में 3-4 बच्‍चे हों)।
  1. वे बाहर जाकर अवलोकन कर सकते हैं। हर समूह को स्‍कूल की इमारत की किसी एक मंजिल का नक्‍शा बनाने के लिए कहा जा सकता है। सार्वजनिक स्‍थल जैसे खेल का मैदान आदि सभी नक्‍शों में दिखाए जा सकते हैं।
  1. पहले उनसे रफ कागज पर नक्‍शा बनाने को कहें जिसमें कौन-सा कमरा कहाँ है इसका विवरण (केवल मोटे-मोटे वि‍वरण) हो। जाँचें कि उनके रफ नक्‍शों में किसी तरह की गलतियाँ तो नहीं हैं – ऊपर से देखने पर कमरों का स्‍थान नियोजन आदि कैसा होगा पहली बार यह समझने के लिए उन्‍हें मार्गदर्शन की जरूरत होगी। इसकी समझ बनाने के लिए उन्‍हें किसी सहारे व जाँच सम्‍बन्‍धी सवालों की जरूरत पड़ सकती है।

 

  1. एक बार जब मोटे विवरण सही हो जाएँ तो बच्‍चे हर कमरे में जाकर खिड़कियाँ, दरवाजे, अलमारियाँ आदि जैसे छोटे-छोटे विवरणों को भी नक्‍शे में दिखा सकते हैं। वो लोगों की कुर्सियाँ-मेज (प्रधानाध्‍यापक, स्‍टॉफ रूम में शिक्षक, मेहमानों की कुर्सी आदि) जैसे वि‍वरण भी दिखा सकते हैं। नक्‍शे में लोगों को दिखाना सच में एक मजेदार गतिविधि हो सकती है!
  2. नक्‍शे में कौन-कौन से विवरण दिखाना है यह उनके ऊपर निर्भर करता है।

नोट: य‍ह महत्‍वपूर्ण है कि वे यह समझें कि नक्‍शे मूलत: अमूर्त होते हैं और उपयुक्‍त जानकारी सामने रखने के लिए होते हैं। नक्‍शा पढ़ने में आसानी हो इसलिए छोटे-छोटे विवरणों को छोड़ दिया जाता है।

  1. पैमाने, स्थिति/दिशा और परिदृश्‍य (पर्सपेक्टिव) के सन्‍दर्भ में सुधार हेतु नक्‍शे का जाँच लें। 

क्‍या कुर्सी उतनी ही बड़ी है जितनी कि दीवाल?

बोर्ड खिड़की के ज्‍यादा पास है या दरवाजे के?

क्‍या उस दीवाल में कोई दरवाजा है? आदि

  1. एक बार जब सुधार, स्‍पष्‍टीकरण वगैरह सब हो जाए और नक्‍शे को अन्‍तिम रूप दे दिया जाए तो साफ चित्रण के लिए उन्‍हें कोरा कागज दें। सीधी रेखा खींचने के लिए स्‍केल का इस्‍तेमाल करने के लिए प्रेरित करें।
  2. अब इसमें रंग भरें। उन्‍हें बताएँ कि जानकारी देने के लिए रंगों का इस्‍तेमाल किस तरह किया जा सकता है जैसे हरा रंग खेल के मैदान के लिए, भूरा अन्‍दर के कमरों के लिए, नीला पानी के स्रोतों के‍ लिए आदि।

सीमित रंगों के इस्‍तेमाल से चित्र साफ-सुथरा बना रहेगा। उदाहरण के लिए पूरी जगह में रंग भरने के बजाए केवल आउटलाइन के साथ शेडेड रेखाएँ खींचना।

  1. बच्‍चों से कहें कि नक्‍शे के एकदम नीचे प्रतीकों/चिन्‍हों/रंगों के इस्‍तेमाल के वर्णन की एक सूची दें। 

 

  1. और अन्‍त में हर समूह अपना नक्‍शा बाकी कक्षा के सामने प्रदर्शित करे।
18450 registered users
7211 resources